पल्स पोलियो अभियान की शुरुआत,नैनिहाल गटकेगें दो बूंद जिन्दगी की

पल्स पोलियो अभियान की शुरुआत,नैनिहाल गटकेगें दो बूंद जिन्दगी की

शिवहर। आगामी 11 अक्टूबर से जिला में पोलियो अभियान की शुरुआत हो रही है। बच्चों को कोविड 19 प्रोटोकॉल के तहत सुरक्षित खुराक मिले इसको लेकर जिला मुख्यालय से लेकर प्रखंड तक पोलियो टीम को विशेष ट्रेंनिग दी जाएगी। कोरोना संक्रमण से खुद बचते हुए व बच्चों को भी बचाते हुए पोलियो की खुराक पिलाने के लिए यह ट्रेंनिग दी जाएगी। यह ट्रेनिंग डब्ल्यूएचओ के विशेष गाइड लाइन के अनुसार दिया जाएगा। पोलियो टीम को शारीरिक दूरी  का पालन करना होगा, साथ ही मास्क व सुरक्षित किट के साथ पोलियो का खुराक पिलायेंगे।

दो चरणों में चलेगा पल्स पोलियो अभियान

सिविल सर्जन डा. आरपी सिंह ने बताया कि जिले में 11 से 15 अक्टूबर व 29 नवंबर से तीन दिसंबर तक दो चरणों में विशेष रूप से पल्स पोलियो अभियान चलाया जाएगा। इस अभियान को सफल बनाने को लेकर सभी टीकाकर्मियों एवं पर्यवेक्षकों को प्रशिक्षित करने, मुख्य ट्रांजिट स्थलों पर कार्य करने वाले टीकाकर्मियों के चयन एवं प्रशिक्षण पर विशेष ध्यान देने, शहरी आबादी की निगरानी करते हुए उनके बच्चों को पोलियो खुराक पिलाने पर विशेष ध्यान देने संबंधी माइक्रोप्लान तैयार करने को कहा गया है।

दूर-दराज गांव के बच्चों पर विशेष ध्यान:सिविल सर्जन डा. आरपी सिंह ने बताया कि अभियान के दौरान सामान्य दूर-दराज के क्षेत्र के बच्चों को विशेष रुप से पोलियो की खुराक पिलायी जाएगी। इसकी निगरानी के लिए विशेष टीम का गठन किया जाएगा। ताकि शत प्रतिशत बच्चों को अभियान के दौरान इसका लाभ मिल सके। नवजात शिशुओं को पोलियों की खुराक पिलाए जाने पर विशेष बल दिया जाएगा। मुख्य ट्रांजिट स्थलों जैसे बस स्टैंड एवं चौक चौराहों से गुजरने वाले बच्चों पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। टीकाकर्मियों को कोविड 19 से सुरक्षा के लिए आवश्यकतानुसार मास्क, सैनिटाइजर, ग्लब्स आदि उपलब्ध कराया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!